सरकारी अस्पताल में पहचान छिपाकर इलाज करा रहे थे PM मोदी के चाचा

सूरत। गुजरात के सूरत स्थित सरकारी अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे एक शख्स की जब पहचान सामने आई तो वहां मौजूद हर शख्स हैरान रह गया। दरअसल यह शख्स कोई और नहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाचा थे। वे अपनी पहचान छिपाकर इलाज कराने आए थे, लेकिन पूछताछ के दौरान राज से पर्दा उठ गया।
नहीं बताते पीएम से रिश्तेदारी
दरअसल वे नहीं चाहते थे कि किसी को पता चले वो प्रधानमंत्री मोदी के रिश्तेदार हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सूरत में रहने वाले 81 वर्षीय कांतिलाल मोदी समेत उनके सभी परिजन बिल्कुल सामान्य जीवन जीते हैं और किसी से पीएम मोदी से रिश्तेदारी की बात नहीं कहते।
प्रधानमंत्री बनने के बाद नहीं मिले
रिपोर्ट के अनुसार कांतिलाल हाल ही में प्रधानमंत्री की भाभी के अंतिम संस्कार में भी शरीक हुए थे। वहीं उनकी तबीयत खराब हो गई थी। कांतिलाल के मुताबिक नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब मिलना होता था लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद वे उनसे नहीं मिल पाए हैं। अस्पताल के अधीक्षक डॉ गणेश गोवेकर को जब पूरी बात पता चली तो उन्होंने फोन करके उनसे बात की और हालचाल पूछा।
पीएम के परिजनों की सादगी हमेशा से चर्चा में
बीजेपी-कांग्रेस के एक-दूसरे पर परिवारवाद का आरोप लगाने के बीच पीएम मोदी के परिजनों की सादगी अक्सर चर्चा में रहती है। नोटबंदी के दौरान भी उनकी मां की तस्वीरें बैंक की लाइन में लगते हुए नजर आई थीं। उनकी मां के साथ जरूर उनकी तस्वीरें कई बार सामने आती हैं। लेकिन बाकी परिजनों के साथ कम ही देखा गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक लंबे समय से वे घर-परिवार से दूर ही हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके सभी भाई आम आदमी की तरह कामकाज करते हैं और परिवार के साथ रहते हैं।