कोलकाताः विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने पर सियासत तेज, ममता ने निकाला मार्च

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा के बाद अब इसे लेकर राजनीति तेज हो गई है। खास तौर पर विद्यासागर कॉलेज में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। भाजपा और टीएमसी की ओर से आरोप प्रत्यारोप के बाद आज सीएम ममता बनर्जी ने कोलकाता में मार्च निकाला।
हिंसा और मूर्ति तोड़े जाने के विरोध में ममता ने बेलियाघाट से श्यामबाजार तक मार्च निकाला। इस दौरान उनके साथ कई मंत्री, नेता और कार्यकर्ता भी थे। कार्यकर्ता हाथों में टीएमसी का झंडा लिए हुए थे। ममता तेज चाल से हाथ जोड़कर मार्च कर रही थीं।
अमित शाह के रोड शो में झड़प और हिंसा के बाद टीएमसी और भाजपा के बीच सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है। अमित शाह ने आज आरोप लगाया कि खुद उनकी जान यहां खतरे में थी और सुरक्षाबलों के कारण सही सलामत वापस लौट सके। उन्होंने कहा कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने ही मूर्ति तोड़ी ताकि सहानूभुति मिल सके।
वहीं, टीएमसी की ओर से डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि अमित शाह बाहर से गुंडे लाए जिन्होंने कोलकाता में रोड शो के दौरान हिंसा की। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह चुनाव आयोग को वीडियो सौंपेंगे जिससे साफ हो जाएगा कि हिंसा में भाजपा का हाथ है।