लोकपाल को शिकायत भेजने का प्रारूप जल्द पेश करेगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार जल्द ही एक प्रारूप पेश करने की तैयारी में है। इसके जरिए लोकपाल से भ्रष्टाचार संबंधित शिकायतें की जा सकेगी। अधिकारियों ने बताया कि नियमों के मुताबिक केंद्र सरकार के द्वारा सत्यापित फार्म का इस्तेमाल ही ऐसी शिकायतों के लिए किया जा सकेगा।
मंत्रालय के सीनियर अधिकारी के मुताबिक, जल्द ही यह फार्म जनता के बीच होगा। हालांकि शिकायत के लिए आवश्यक फॉर्म्स अभी तक सत्यापित नहीं किए गए हैं। वहीं, लोकपाल ने तय किया है कि 16 अप्रैल तक कार्यालय को प्राप्त शिकायतों की अभी छंटनी होना है। फिर भले ही वो किसी भी प्रारूप में मिली हो। चेयरपर्सन जस्टिस पी.सी. घोष की मौजूदगी में लोकपाल वेबसाइट की शुरुआत हुई। http://lokpal.gov.in. पर लोकपाल की कार्यप्रणाली से संबंधित जानकारी उपलब्ध है।
5 स्टार होटल में है लोकपाल कार्यालय
भारत के पहले लोकपाल जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष और उनकी आठ सदस्यीय टीम को दिल्ली के डिप्लोमैटिक एरिया चाणक्यपुरी के अशोक होटल में ऑफिस स्पेस दिया गया है हालांकि यह अस्थाई जगह है।
लोकपाल मिलने में 5 साल का वक्त लगा
साल 2013 में भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए केंद्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्त की नियुक्ति का प्रावधान किया गया था। हालांकि देश का पहला लोकपाल मिलने में करीब 5 साल का लंबा वक्त लगा। लोकपाल चेयरमैन और सदस्यों का कार्यकाल अधिकतम 5 साल के लिए होता है।