एग्जिट पोलः केरल में भाजपा का खुल सकता है खाता

  • आंध्र में जगन, तेलंगाना में KCR, तमिलनाडु में DMK का जलवा मुमकिन
    ———————————————————————————

नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग संपन्न हो गई है। अब पूरे देश की निगाहें इस पर हैं कि केंद्र में किसकी सरकार बनेगी। दक्षिण भारत के राज्य अगली सरकार के गठन में प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं। यहां से कांग्रेस को काफी उम्मीदें हैं। कर्नाटक में तो बीजेपी और कांग्रेस-जेडीयू गठबंधन के बीच सीधा मुकाबला है। लेकिन केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बीजेपी का कुछ खास प्रभाव नहीं है। आइए देखते हैं कि टाइम्स नाउ-वीएमआर एग्जिट पोल के मुताबिक इन राज्यों में किसको कितनी सीटें मिलती दिख रही हैं।
केरल में कांग्रेस को 3 सीटों का फायदा संभव
सबसे पहले बात केरल की करते हैं, जहां खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मैदान में हैं। केरल में कुल 20 सीटे हैं और मुख्य मुकाबला कांग्रेस की अगुआई वाले यूडीएफ और लेफ्ट के एलडीएफ के बीच है। टाइम्स नाउ-वीएमआर के एग्जिट पोल के मुताबिक यहां पहली बार बीजेपी खाता खोलने में कामयाब हो सकती है। एग्जिट पोल के मुताबिक, यूपीए को इस बार 3 सीटों का फायदा हो सकता है। उसके खाते में 15 सीटें (वोट शेयर- 45.9%) आ सकती हैं। पिछली बार यूपीए को यहां 12 सीटें (41.98% वोट शेयर) मिली थीं।
केरल में पहली बार बीजेपी खोल सकती है खाता
बात अगर बीजेपी की करें तो वह केरल में पहली बार खाता खोलते दिख रही है। उसे 1 सीट मिल सकती है। केरल में बीजेपी के वोट शेयर में जबरदस्त उछाल का अनुमान है। 2014 में उसे केरल में 10.57 प्रतिशत वोट मिले थे जो इस बार बढ़कर 23.53 प्रतिशत हो सकता है। लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट को 4 सीटों के नुकसान का अनुमान है। 2014 में एलडीएफ ने केरल में 8 सीटों पर कब्जा किया था लेकिन इस बार उसे सिर्फ 4 सीटें मिलती दिख रही हैं। उसके वोटशेयर में भी काफी गिरावट का अनुमान है। एलडीएफ को इस बार 26.5 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं, जो 2014 के 40.12 प्रतिशत के मुकाबले 13.62 प्रतिशत कम हैं।
आंध्र प्रदेश में चौंका सकते हैं जगन
बात अब आंध्र प्रदेश की करते हैं, जहां लोकसभा की 25 सीटें हैं। यहां जगनमोहन रेड्डी की ysr कांग्रेस शानदार प्रदर्शन करती दिख रही है। टाइम्स नाउ-वीएमआर एग्जिट पोल के मुताबिक YSR कांग्रेस आंध्र की 25 में से 18 सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है। अगर ऐसा हुआ तो उसे सीधे-सीधे 10 सीटों का फायदा होगा। पिछली बार वाईएसआर कांग्रेस ने 8 सीटें जीती थीं। पिछली बार 15 सीटें जीतने वाली चन्द्रबाबू नायडू की टीडीपी की सीटें इस बार घटकर आधी से भी कम हो सकती हैं। उसे 7 सीटें मिलने का अनुमान है। पिछली बार बीजेपी ने आंध्र प्रदेश में 2 सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार यहां उसके खाता भी नहीं खोल पाने का अनुमान है।
तेलंगाना में केसीआर का जलवा रह सकता है कायम
तेलंगाना में कुल 17 सीटें हैं। टाइम्स नाउ-वीएमआर एग्जिट पोल के मुताबिक यहां स्थिति लगभग 2014 जैसी ही रहेगी। केसीआर की टीआरएस को 1 सीट का फायदा होने का अनुमान है। पिछली बार टीआरएस ने यहां 12 सीटें जीती थीं, जो इस बार बढ़कर 13 हो सकती है। कांग्रेस पिछली बार की तरह 2 सीटें जीत सकती हैं। बीजेपी को भी पिछली बार की ही तरह एक सीट मिलने का अनुमान है। असदुद्दीन ओवैसी की ।प्डप्ड के खाते में 1 सीट जा सकती है। पिछली बार भी वह 1 सीट जीती थी। पिछली बार अन्य के खाते में 1 सीट गई थी, लेकिन इस बार उनका खाता नहीं खुल रहा है।
तमिलनाडु में डीएमके का बज सकता है डंका
तमिलनाडु में कुल 38 सीटें हैं। पिछली बार यहां AIDMKने एकतरफा जीत हासिल करते हुए 37 सीटों पर कब्जा किया था। 1 सीट बीजेपी को मिली थी। इस बार AIDMK एनडीए का हिस्सा है। टाइम्स नाउ-टडत् एग्जिट पोल के मुताबिक इस बार यहां एनडीए को सिर्फ 9 सीटें मिल सकती हैं, जो पिछली बार से 29 कम है। डीएमके की अगुआई में यूपीए को इतनी ही सीटों का फायदा होता दिख रहा है। पिछली बार खाता तक नहीं खोल पाने वाला यूपीए इस बार 29 सीटों पर जीत हासिल कर सकता है।