अलीगढ़ कांडः टप्पल में तनाव बरकरार, इंटरनेट सेवा ठप

  • हटाए गए टप्पल के सर्किल ऑफिसर
    ————————————————–

अलीगढ। तालानगरी अलीगढ़ के टप्पल में ढाई वर्ष की मासूम की हत्या के बाद से तनाव बरकरार है। कल अलीगढ़ में इस कांड को लेकर काफी देर तक प्रदर्शन के बाद भी आज यहां तनाव को देखते हुए जगह-जगह पर पुलिस बल तैनात है। डीआइजी लॉ एंड ऑर्डर विजय भूषण ने बताया कि संजीव दीक्षित को पंकज श्रीवास्तव के स्थान पर टप्पल सर्किल ऑफिसर बनाया गया है।
सोशल मीडिया पर तमाम तरह की अफवाह देखते हुए इंटरनेट सेवा को ठप कर दिया गया है। आज सामान्य दिनों की तरह बाजार खुले हैं, लेकिन तनाव भरी स्थिति है। प्रशासन ने टप्पल क्षेत्र में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। सोशल मीडिया पर लगातार फैल रही अफवाहों के चलते इलाके में तनाव का माहौल है। लिहाजा जिलाधिकारी ने खैर तहसील क्षेत्र में एहतियातन रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवा पर पाबंदी लगा दी है। उधर, पुलिस चार्जशीट लगाने की तैयारी में है। पुलिस के मुताबिक सभी आरोपित जेल भेजे जा चुके हैं। फॉरेंसिक रिपोर्ट मिलते ही चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी।

मासूम बच्ची की हत्या को लेकर टप्पल में तनाव बना हुआ है। पुलिस तैनात है। आज बाजार भले खुल गए, पर सड़कों पर सन्नाटा है। कई दिन से सोशल मीडिया पर चल रहे आक्रोश भरे संदेशों से माहौल खराब न हो, इसलिए प्रशासन ने टप्पल क्षेत्र में इंटरनेट सेवा बंद करा दी है। यह प्रतिबंध आज रात तक रहेगा। इलाके में धरा 144 पहले से ही लगी हुई है।
पीड़ित परिवार ने लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री से मुलाकात करने से इनकार कर दिया है। बच्ची के पिता का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तो यहां भी आकर मेरे परिवार को सांत्वना दे सकते हैं। मैं तभी संतुष्ट हूंगा, जब हत्यारों को सजा मिलेगी। दूसरी ओर इस मामले को लेकर जिलेभर में गुस्सा अभी कम नहीं हुआ है। आरोपितों को फांसी की सजा की मांग को लेकर आज भी कई जगह कैंडल मार्च की तैयारी की जा रही हैं। बच्ची के पिता का कहना है कि मुख्यमंत्री तो यहां भी आकर सांत्वना दे सकते हैं। मैं तभी संतुष्ट हूंगा जब हत्यारों को सजा मिलेगी। वहीं, दूसरी ओर इस मामले को लेकर जिलेभर में गुस्सा अभी कम नहीं हुआ है। आरोपितों को फांसी की सजा की मांग को लेकर आज भी कई जगह कैंडल मार्च की तैयारी की जा रही हैं।
पुलिस चार्जशीट की तैयारी में है। पुलिस के मुताबिक सभी आरोपित जेल भेजे जा चुके हैं। विवेचना भी रफ्तार पकड़ रही है। फोरेंसिक रिपोर्ट मिलते ही चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी। जांच के लिए स्लाइड आगरा लैब भेजी थी। जिसकी रिपोर्ट यह तय करेगी कि बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था या नहीं।
एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि हत्या में शामिल आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। परिवार के लोग भी संतुष्ट हैं। धारा 201 (साक्ष्य छिपाने के प्रयास) बढ़ाई गई है। एनएसए की कार्रवाई की जा रही है। फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर पॉक्सो एक्ट की कार्रवाई की जाएगी। पूरा जोर विवेचना को जल्द खत्म कर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा शुरू कराने पर है। आरोपितों को संरक्षण मिलने की बात जांच में यदि पाई जाती है तो संबंधित पर कार्रवाई होगी।