जब तक मुकदमा वापस नहीं होगा तब तक धरना जारी रहेगा : बीजेपी पार्षद

बरेली (नमस्कार न्यूज)। जब से कोतवाली में बीजेपी पार्षद विनोद सैनी के खिलाफ नगर आयुक्त सैमुअल पाॅल एन द्वारा मुकदमा लिखाया गया है तब से नगर निगम में माहौल गरमा गया है। पार्षदों में हड़कंप मच गया है प्रतिदिन पार्षद नगर निगम में हंगामा कर रहे है। मंगलवार को हंगामा बढ़ता देख निगम में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। सीओ प्रथम कुलदीप कुमार ने किसी तरह मामला शांत कराया। पार्षदों का कहना है कि जब तक नगर आयुक्त मुकदमा वापस नहीं लेते तब तक धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा।
बताते चलें कि नगर निगम के भाजपा पार्षद विनोद सैनी और व्यापारी नेता दर्शन लाल भाटिया समेत कई अज्ञात लोगों पर नगर निगम के राजस्व निरीक्षक ने कोतवाली में रिपोर्ट कराई है। दोनों आरोपी पार्षद पर सिटी मजिस्ट्रेट की जांच में दुकानों के आवंटन में भ्रष्टाचार करने का आरोप है। दुकानदारों को आवंटन पत्र नहीं दिए गए हैं। पिछले दिनों नगर आयुक्त सैमुअल पाॅल एन ने इंदिरा नगर में लगी पोर्टेबल शाॅप की सिटी मजिस्ट्रेट से जांच कराई थी। इसमें आवंटन पक्रिया सवालों के घेरे में आ गई थी। रिपोर्ट में कहा गया कि इंदिरा मार्केट में न वेंडिंग जोन का प्लान स्वीकृत है न दुकानदारों के पास आवंटन पत्र है। इससे साफ है कि दुकानदारों को डूडा या निगम की ओर से आवंटन पत्र नहीं दिए गए है। जो दुकानें इंदिरा मार्केट में रखी गई है, उनकी दरें एवं किराया निर्धारण का कोई अभिलेख भी उपलब्ध नहीं है। नगर मजिस्ट्रेट ने जांच में स्पष्ट किया है कि दुकानदारों को नियमानुसार आवंटन नहीं किया गया है। उधर, पार्षदों का कहना है कि रिपोर्ट लिखाए जाने से सभी पार्षदों को आधात पहुंचा है। उन्होंने बताया कि जब से नगर निगम में धरना शुरू हुआ है तब से नौ विधायक और दो सांसद में से एक भी देखने नहीं आया। धरने में भाजपा महानगर अध्यक्ष डा. केएम अरोरा, पार्षद राजकुमार गुप्ता, नरेश शर्मा बंटी, अनुपम चमन, राजू मिश्रा, सुभाष वर्मा व मुकेश सिंघल सुधा शर्मा, सर्वेश रस्तोगी, सुदामा देवी आदि मौजूद रहे।