विराट को दिन-रात टेस्ट मैच के लिए राजी करने में लगे 3 सेकेंड : गांगुली

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के नए अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने शनिवार को उन खबरों का खंडन किया है जिनमें कहा जा रहा था कि भारत ने पिछले साल एडिलेड में आस्ट्रेलिया के खिलाफ दिन-रात का टेस्ट मैच खेलने से मना कर दिया था। गांगुली ने कहा कि टीम के कप्तान विराट कोहली को गुलाबी गेंद से खेलने के लिए मनाने में उन्हें सिर्फ तीन सेकेंड लगे।

गांगुली ने अध्यक्ष बनने के अगले दिन यानी 24 अक्टूबर को कोहली से बात की थी। इस मुलाकात में उन्होंने पहली चीज जो कही थी वो गुलाबी गेंद से खेलने को लेकर कही थी। गांगुली ने यहां पूर्व अंतर्राष्ट्रीय अंपायर साइमन टॉफेल की किताब ‘फाइनडिग द गैप’ के लांच के मौके पर कहा,  मुझे नहीं पता कि वह उस समय (दिन-रात का टेस्ट मैच) क्यों नहीं खेले थे। मैं विराट से 24 तारीख को मिला, हमारी मुलाकात एक घंटे चली और मेरा पहला सवाल था कि हमें दिन-रात का टेस्ट मैच खेलना चाहिए। इस पर जो जवाब तीन सेकेंड में मिला.. वो था हां, खेलते हैं।

पूर्व कप्तान ने कहा, इसलिए मुझे नहीं पता कि अतीत में क्या हुआ। क्या कारण था और इस फैसले में कौन शामिल था। लेकिन विराट दिन-रात का टेस्ट मैच खेलने के लिए तैयार थे। शायद उन्हें लगा कि टेस्ट मैच में खाली स्टैंड अच्छे नहीं लगते। भारत अपना पहला दिन-रात प्रारूप का टेस्ट मैच 22 से 26 नवंबर को ईडन गार्डन्स स्टेडियम में बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगा।