अयोध्या पर फैसले से पहले हरकत में CJI रंजन गोगोई

  • जस्टिस बोबडे को सौंपी तत्काल सुनवाई के मामलों की लिस्टिंग
    —————————————————————-

नई दिल्ली। अयोध्या, सबरीमाला और आरटीआई समेत कई अहम मामलों की सुनवाई कर रहे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं। इससे पहले उन्होंने नए चीफ जस्टिस नियुक्त हुए एस.ए. बोबडे को अहम मामलों की लिस्टिंग का काम दे दिया है। सीजेआई रंजन गोगोई के रिटायरमेंट में अब महज 5 कार्यदिवस ही बचे हैं।

सीजेआई रंजन गोगोई ने अपने उत्तराधिकारी एस.ए. बोबडे को ऐसे सभी अहम मामलों की लिस्टिंग सौंपी है, जिनकी तत्काल सुनवाई की जानी है। ऐसे में स्पष्ट है कि अयोध्या जैसे संवेदनशील मामले पर जल्दी ही फैसला आ सकता है। बता दें कि मामले की सुनवाई करते हुए शीर्ष अदालत ने 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था।

सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा था कि फैसला लिखने के लिए कम से कम एक महीने की जरूरत है। वह 17 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं। ऐसे में उससे पहले किसी भी दिन अयोध्या समेत अहम मामलों पर फैसला आ सकता है। अयोध्या, आरटीआई, सबरीमाला और राफेल डील जैसे कई अहम मामले हैं, जिन पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला देश में राजनीतिक और सामाजिक परिदृश्य के लिहाज से काफी अहम होगा।