साहित्य अकादमी विजेता लेखिका नवनीता देवसेन नहीं रहीं

नई दिल्ली। साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता लेखिका नवनीता देवसेन नहीं रहीं. वह 81 वर्ष की थीं। बताया जा रहा है कि वह काफी समय से कैंसर से जूझ रही थीं। दक्षिणी कोलकाता स्थित आवास पर गुरुवार को उनका निधन हो गया। पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

नवनीता देवसेन का विवाह वर्ष 1959 में प्रख्यात अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन से हुआ था, जिन्हें 1998 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। नवनीता देवसेन की दो बेटियां हैं। एक साल पहले उनके शरीर में कैंसर के पनपने का पता चला था। उनका स्वास्थ्य दिनोदिन गिरता चला गया। इधर कुछ दिनों से वह कुछ बोल नहीं पा रही थीं। गुरुवार शाम 7.35 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

नवनीता कवयित्री, उपन्यासकार और कथाकार थीं। वर्ष 1999 में उन्हें उनकी कृति ‘नव-नीता’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। बाद में उन्हें पद्मश्री सम्मान भी मिला।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट करते हुए शोक व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, विख्यात साहित्यकार और अकादमिक नबनेता देव सेन के निधन पर दुख हुआ। कई पुरस्कारों से सम्मानित, उनकी अनुपस्थिति उनके असंख्य छात्रों और शुभचिंतकों द्वारा महसूस की जाएगी। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना।