जम्मू-कश्मीर में असामायिक भारी बर्फबारी से जनजीवन प्रभावित, सेब के बागों को नुकसान

श्रीनगर। कश्मीर में शुक्रवार को दूसरे दिन भी भारी बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। पिछले 36 घंटे से स्थिति में कोई सुधार नहीं है जिससे यहां सेब की फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। बर्फबारी के चलते गुरुवार से ट्रांसपोर्ट और टेलीफोन सेवाओं के ठप रहने से घाटी का संपर्क देश के बाकी हिस्से से टूट गया।
श्रीनगर-जम्मू और श्रीनगर-लेह राजमार्ग पर यातायात बाधित है और इसके साथ ही कल श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है।
आखिरी रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीनगर हवाई अड्डे से उड़ान संचालन को बहाल किया जाना बाकी था। यातायात विभाग के अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग शुक्रवार को बंद रहेगा, क्योंकि यहां बर्फ की सफाई का काम चल रहा है। बारामूला, कुपवाड़ा, शोपियां, कुलगाम, पुलवामा और अनंतनाग जिलों से आई खबरों के मुताबिक, इन जिलों में सेब के पत्तेदार पेड़ बड़े पैमाने पर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। शोपियां जिले की ऊंची पहाड़ियों में, सेब के पेड़ों को और भी ज्यादा नुकसान पहुंचा है, क्योंकि गुरुवार को जब बर्फबारी हुई, उस वक्त पेड़ों पर फल लदे हुए थे। अधिकारियों ने इस बात को स्वीकार किया है कि पिछले दो दिनों में हुई बर्फबारी से घाटी में स्थित अधिकतर सेब के बगीचों को भारी नुकसान पहुंचा है।