भारत के लिए ऐतिहासिक दिनः उद्धव


मुंबई। अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत करते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा, यह ऐतिहासिक दिन है और भारत के लिए एक सुनहरा पल है। उन्होंने कहा, एक पुराना विवाद खत्म हो गया है कई सालों बाद आखिरकार न्याय हुआ। सभी ने निर्णय को माना और हम सभी को इसका स्वागत करना चाहिए। मैं न्यायपालिका को प्रणाम करता हूं।
ठाकरे ने कहा, पिछले साल 24 नवंबर (2018) को मैं अयोध्या गया था और वहां आरती की थी। इससे पहले में क्षत्रपति शिवाजी महाराज के जन्म स्थान शिवनेरी गया था और वहां से थोड़ी मिट्टी लेकर अयोध्या गया था। मुझे लगा कि मिट्टी जादुई है और विश्वास था कि चमत्कार होगा और एक साल से भी कम समय में यह हुआ है, फैसले के बाद उन्होंने पुणे जिले में शिवनेरी में वापस जाने और प्रार्थना करने की घोषणा की। शीर्ष अदालत के फैसले के बाद धन्यवाद के लिए वह एक फिर 24 नवंबर को अयोध्या जाएंगे। उद्धव ने कहा, आज हम दिवंगत बाला साहब ठाकरे को याद करते हैं। मैं भाजपा नेता लाल कृष्ण अडवाणी से भी मिलने जाऊंगा। राम मंदिर आंदोलन में उन्होंने भी बड़ी भूमिका निभाई थी। मुझे विश्वास है कि आज के फैसले से वह भी बेहद खुश होंगे। महाराष्ट्र में सरकार निर्माण को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उद्धव ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।