राशिफल 12 फरवरी 2020, दिन बुधवार

विक्रम संवत् 2076, शाके संवत् 1941, कलि संवत् 5121
सूर्योदय – प्रातः 07ः03 पर
सूर्यास्त – सायं 18ः04 पर
आयन – उत्तरायण
ऋतु – शिशिर
माह – फाल्गुन
पक्ष – कृष्णपक्ष
तिथि – चतुर्थी तिथि रात्रि 23ः39 तक तत्पश्चात् पंचमी तिथि
राहुकाल – दोपहर 12ः35 से 13ः58 तक
दिशाशूल – उत्तर दिशा
नक्षत्र – उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र सुबह 11ः45 तक तत्पश्चात् हस्त नक्षत्र
योग – धृति योग रात्रि 23ः35 तक तत्पश्चात् शूल योग
करण – बव करण दोपहर 13ः14 तक तत्पश्चात् कौलव करण
चन्द्रराशि – कन्या राशि
सूर्यराशि – मकर राशि
शुभसमय – अभिजित नहीं है
भद्रा – नहीं है
पंचक – नहीं है
गण्डमूल – नहीं है
पर्व – गणेशचतुर्थी व्रत, सर्वोदय दिवस

मेष – घरेलू वातावरण में अनेक प्रकार की कमियाँ तथा अशान्ति बनेगी परन्तु शत्रुपक्ष में शान्ति का अनुभव करेंगे तथा अपने धैर्य एंव विनम्रता के बल पर विजय प्राप्त करेंगे, अच्छे कार्यों में व्यय अधिक होगा, बाहरी स्थानों से सुख एवं लाभ भी प्राप्त होगा।
वृष – विद्या, बुद्धि तथा संतान के पक्ष मेें विशेष सफलता प्राप्त होगी साथ ही छोटे भाई-बहनों से सुन्दर सम्बन्ध बनेगा, मनोबल एवं बुद्धि योग के द्वारा आय, सम्पत्ति तथा ऐश्वर्य के पक्ष में भी विशेष सफलता प्राप्त होगी, सुखी एवं धनी बनेंगे।
मिथुन – माता के सुख में तो कमी आयेगी परन्तु धन, भूमि, सम्पत्ति तथा कुटुम्ब का सुख खूब प्राप्त होगा, पिता एवं राज्य द्वारा सुख तथा सम्मान की प्राप्ति होगी साथ ही व्यवसाय में सफलता एवं धन की उन्नति के योग भी बनेंगे।
कर्क – भाई-बहन का सुख यथेष्ठ मात्रा में मिलेगा तथा पराक्रम की भी अत्याधिक वृद्धि होगी, भाग्य एवं धर्म के क्षेत्र में भी उन्नति होगी, धार्मिक, धनी, पुरुषार्थी, उत्साही, सज्जन तथा शारीरिक बल एवं मनोबल से सम्पन्न होंगे।
सिंह – धन की कुछ हानि होगी परन्तु उसके ठाट-बाट अमीरों जैसे होंगे साथ ही कुटुम्ब पक्ष से कुछ असंतोष रहेगा परन्तु बाहरी स्थानों के सम्बन्ध से लाभ प्राप्त होगा, स्वास्थ्य से सम्बन्धित परेशानी दूर होगी तथा कुछ कमजोरी के साथ आकस्मिक लाभ की प्राप्ति होगी।
कन्या – शारीरिक सौन्दर्य, मनोबल एवं प्रसन्नता की प्राप्ति होगी, शारीरिक श्रम द्वारा श्रेष्ठ लाभ प्राप्त करेंगे तथा यशस्वी एवं प्रभावशाली भी बनेंगे, वैवाहिक क्षेत्र से सम्बन्धित कार्यों में सफलता मिलेगी, व्यवसाय के द्वारा भी यथेष्ठ लाभ होगा, गृहस्थ जीवन सुख एवं संतोषपूर्ण बनेगा।
तुला – व्यय अधिक होगा परन्तु बाहरी स्थानों के सम्बन्ध से लाभ, उन्नति एवं सफलता की प्राप्ति होगी, पिता, व्यवसाय तथा राज्य तीनों के क्षेत्र में कुछ हानि प्राप्त होगी और उसे मान-प्रतिष्ठा भी कम मिलेगी, शत्रुपक्ष में शान्ति एवं चातुर्य द्वारा सफलता एवं प्रभाव प्राप्त करेंगे।
वृश्चिक – धन एवं धर्म के क्षेत्र में सफलता मिलेगी, भाग्यवान, धनी, सुखी, यशस्वी तथा धर्मपरायण होंगे, संतान, विद्या एवं बुद्धि का श्रेष्ठ लाभ होगा, वाणी में शक्ति रहेगी तथा यश एवं लाभ की प्राप्ति होगी।
धनु – पिता, राज्य एवं व्यवसाय के पक्ष में कुछ कठिनाईयों तथा परेशानियों का सामना करना पडे़गा, जीवन प्रभावशाली एवं ठाठ-बाट सा बनेगा, माता, भूमि एवं मकान आदि का सुख मिलेगा परन्तु कमी एवं परेशानी भी बनेगी।
मकर – भाग्य की विशेष उन्नति होगी साथ ही धर्म में भी रूचि बनेगी, धार्मिक, यशस्वी तथा न्यायप्रिये होंगे, जीवनसाथी का सहयोग प्राप्त होगा तथा व्यवसाय के क्षेत्र में भी खूब सफलता मिलेगी, भाई-बहनों का सुख प्राप्त होगा तथा उनके मनोबल एवं पराक्रम में भी वृद्धि होगी।
कुम्भ – प्रभाव से स्वास्थ्य से सम्बन्धित परेशानी रहेगी तथा आकस्मिक हानि भी होगी, शत्रुपक्ष पर भी बड़ी कठिनाईयों से प्रभाव स्थापित करेंगे, हर समय चिंताएं घेरे रहेंगी, ननिहाल पक्ष भी कमजोर होगा, धन एवं कुटुम्ब की वृद्धि के लिए विशेष परिश्रम करेंगे।
मीन – जीवनसाथी के क्षेत्र में सफलता मिलेगी तथा व्यवसाय के क्षेत्र में भी सफलता मिलेगी, संतानपक्ष से सहयोग मिलेगा तथा विद्या, बुद्धि की उन्नति होगी, घरेलू सुख में वृद्धि होगी, शारीरिक सौन्दर्य, प्रभाव, सम्मान एवं योग्यता की प्राप्ति होगी, सामाजिक कार्यों में कुशल तथा यशस्वी होंगे।

ज्योतिर्विद्
पं. गगन भारद्वाज
आत्मज स्व. पं. राजेगुरु जी ज्योतिषाचार्य
7, आनन्द विहार कालोनी,
हार्टमैन तिराहा, नैनीताल रोड,
नाथ नगरी, बरेली
70600-89446