No Picture
यथार्थतः

दिल्ली दिल वालों की

24 दिसंबर 2019 को झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद मैंने अपने नियमित सम्पादकीय स्तंभ यथार्थतः को अब दिल्ली दूर नहीं…! शीर्षक से लिखा था। इसमें स्पष्ट किया था कि जनता की मूलभूत आवश्यकताओं […]

No Picture
यथार्थतः

आर्थिक मोर्चे पर जूझने को रहिए तैयार

पहले से ही महंगाई से जूझ रही जनता को आम बजट ने महंगाई के बोझ से और लाद दिया है। बजट में उम्मीद राहत की थी लेकिन आम जनता की दुश्वारियां और बढ़ गई हैं। […]

No Picture
यथार्थतः

बे-राहत बजटः उम्मीदों का निकला दम

–चंद्रकान्त त्रिपाठी किसी से छुपा नहीं है कि आज महंगाई इतनी है कि तमाम वस्तुएं आम आदमी की पहुंच से ही दूर हैं लेकिन इस बजट के बाद रोजमर्रा की तमाम चीजें महंगी कर दी […]

No Picture
यथार्थतः

आखिर भय किसे है…अपराधियों को या आम जन को !

बरेली शहर के पाॅस इलाके शास्त्रीनगर में पुलिस के एसएचओ के घर में घुसकर बदमाशों ने मंगलवार को सरेशाम जिस बेखौफ अंदाज में डकैती डाली, उसने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पुलिस […]

No Picture
यथार्थतः

प्रियंका के जन्म दिन पर ‘इंदिरा इज बैक’ !

रविवार 12 जनवरी को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का जन्म दिन कांग्रेसियों ने धूमधाम से मनाया लेकिन इस जन्म दिन की बधाई देने के लिए कांग्रेसियों खास तौर पर मध्य प्रदेश में पार्टी के […]

No Picture
यथार्थतः

हिंदी को बनाएं सार्वभौमिक भाषा

10 जनवरी को हम हर साल अंतरराष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाते हैं लेकिन हमें इसे अंतरराष्ट्रीय महत्व का सम्मान देने के लिए प्रयास करने होंगे। हालांकि विश्व में अब हिंदी का महत्व प्रदर्शित हो रहा है। […]

No Picture
यथार्थतः

इतश्री आईपीएस प्रकरण…!

सूबे की योगी सरकार ने गुरुवार को गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण को निलंबित कर दिया और उनके निशाने पर आए प्रदेश के पांच आईपीएस अधिकारियों को भी हटा दिया। पिछले सप्ताह वैभव के जरिए […]

यथार्थतः

इस गीत कवि को क्या हुआ अब गुनगुनाता तक नहीं…

22 दिसंबर 2019 को 01.28 बजे किशन सरोज जी की ओर से उनके फेसबुक पेज पर ये कविता पोस्ट की गई- बीत यह जीवन चला सब, प्रिय! न दो विश्वास अभिनव मिल सको तो अब […]

No Picture
यथार्थतः

वैभव की रिपोर्ट के सवाल

-चंद्रकान्त त्रिपाठी गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने प्रदेश के पांच आईपीएस अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोलकर जिस तरह से ट्रांसफर-पोस्टिंग में खेल का आरोप उछाला है, जाहिर है कि यह नजरंदाज कर देने […]

No Picture
यथार्थतः

अब दिल्ली दूर नहीं …!

-चंद्रकान्त त्रिपाठीझारखंड में भाजपा को जनता जनार्दन ने नकार दिया। विश्लेषक कह सकते हैं कि यह राज्य के भाजपाई मुख्यमंत्री रघुवरदास की नाकामी है लेकिन मैं इस बात से बहुत ज्यादा सहमत नहीं हूं। वजह […]