कला,साहित्य एवं संस्कृति

श्राद्ध तर्पण का अभिप्राय….

श्राद्ध पितरांे के नाम पर किए जाते हैं और उनमें दान पुण्य किया जाता है। इस निमित्त उनके साथ तर्पण पिंडदान आदि कर्मकांड भी जोड़ दिए गए हैं। वर्ष में जिस तिथि में पितरों की […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

पितृपक्ष 2019 श्राद्ध की तिथियाँ

तिथि दिनांक वार तिथि घं/मि. तक पूर्णिमा 14.9.2019 शनिवार सुबह 10ः02 तक प्रतिपदा 15.9.2019 रविवार दोपहर 12ः23 तक द्वितीया 16.9.2019 सोमवार दोपहर 14ः35 तक तृतीया 17.9.2019 मंगलवार दोपहर 16ः32 तक चतुर्थी 18.9.2019 बुधवार सायं 18ः11 […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

13 सितंबर से पितृ पक्षः चांदी या तांबे के बर्तनों का उपयोग करना शुभ होगा

शुक्रवार, 13 सितंबर से पितृ पक्ष शुरू हो रहा है। पितरों के लिए धूप-ध्यान करने का ये पर्व शनिवार, 28 सितंबर तक चलेगा। हर साल आश्विन मास के कृष्ण पक्ष को में पितृ पक्ष के […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

पितृपक्षः पूर्वजों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का अवसर, विशेष पूजा से पितर होते हैं तृप्त

पुराणों के अनुसार, मृत्यु के बाद भी जीव की पवित्र आत्माएं किसी न किसी रूप में श्राद्ध पक्ष में अपनी परिजनों को आशीर्वाद देने के लिए धरती पर आती हैं। पितरों के परिजन उनका तर्पण […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

9 सितंबर को शुक्र का राशि परिवर्तन, राशियों पर होगा असर

सोमवार, 9 सितंबर 2019 को शुक्र राशि बदलकर सिंह से कन्या में चला जाएगा। इस राशि में शुक्र नीच का हो जाएगा। शुक्र की ये स्थिति कुछ लोगों के लिए शुभ नहीं होगा। 3 अक्टूबर […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

घर पर भी बना सकते हैं मिट्टी के गणेश, उत्तर-पूर्व दिशा में करें स्थापित

सोमवार, 2 सितंबर से गणेश उत्सव शुरू हो रहा है। गुरुवार, 12 सितंबर को अनंत चतुर्दशी है यानी इस साल ये उत्सव 11 दिवसीय रहेगा। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार घर में […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

2 सितंबर को शिव-पार्वती योग में शुरू होगा गणेश उत्सव

सोमवार, 2 सितंबर को शिव-पार्वती योग में गणेश उत्सव की शुरुआत होगी। इस साल गणेश उत्सव के दौरान एक अमृतसिद्धि, दो सर्वार्थ सिद्धि और छह रवि योग रहेंगे। पं. अमर डिब्बावाला के अनुसार श्रीगणेश की […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

तीर्थ यात्रा से पुण्य तो मिलते ही हैं, स्वास्थ्य लाभ भी होता है

पुरानी परंपरा है कि हर व्यक्ति को तीर्थ यात्रा जरूर करनी चाहिए। तीर्थ यात्रा जैसे चार धाम की यात्रा, द्वादश ज्योतिर्लिंग की यात्रा, हरिद्वार, ऋषिकेश, मथुरा, काशी जैसे धार्मिक स्थलों की यात्रा करने का विधान […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

जब गायब हो गये थे इस शहर के सारे बच्चे…

जर्मनी लोककथाओं और परियों के किस्सों का देश है। यहां के कई शहर कई अदभुत किस्से-कहानियों से जुड़े हैं। उदाहरण के लिए, ब्रेमेन संगीतकार ब्रेमेन की कथाओं के लिए प्रसिद्ध है। कोलोन बौने की कहानी […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

अजा एकादशी व्रतः इसी व्रत से राजा हरिश्चंद्र को वापस मिला था उनका राज पाट

अन्नदाता एकादशी यानी अजा एकादशी भादो महीने के कृष्ण पक्ष की एकादशी को मनाया जाता है. माना जाता है कि इस दिन व्रत करने से तत्काल प्रभाव से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इस […]