कला,साहित्य एवं संस्कृति

बच्चन को समर्पित श्रीराम कवि सम्मेलन का 49वां संस्करण 23 नवम्बर को

नई दिल्ली। श्रीराम सेंटर फॉर परफॉरमिंग आर्ट्स द्वारा हर साल आयोजित किए जाने वाले श्रीराम कवि सम्मेलन के 49वें संस्करण का आयोजन 23 नवम्बर को नई दिल्ली के बाराखम्भा रोड पर स्थित मॉडर्न स्कूल के […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

अयोध्या से जनकपुर तक धूमधाम से राम बरात निकालने की तैयारी

अयोध्या। सुप्रीम कोर्ट से राममंदिर के पक्ष में आए फैसले के बाद लोगों में खूब उल्लास देखने को मिल रहा है। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के तत्वावधान में अयोध्या से जनकपुर (नेपाल) तक निकाली जाने […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

गणेश शंकर विद्यार्थी के जीवन के अनसुने पहलुओं को उकेरती किताब अंतर्वेद प्रवर

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को उनके आवास के 10, राजाजी मार्ग पर लेखक अमित राजपूत ने अपनी किताब की पहली प्रति भेंट की. उनके साथ दिल्ली स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड के सचिव शैलेन्द्र भदौरिया, […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

गुरु नानक के 5 सूत्रः सत्ता, धन, रूप, जाति और जवानी एक साथ हों तो ये इंसान को भटका सकते हैं

अमृतसर। आज गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती है। वे सिखों के पहले गुरु थे। उनका जन्म सन् 1469 में कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष पूर्णिमा को हुआ था। गुरु नानक देव जी की […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

आदि शंकराचार्य का अद्वैत दर्शन जन-जन को बनाएगा सनातन

रायपुर। आदि शंकराचार्य के अद्वैत दर्शन (विचार) के जरिए भारत के पुनर्निर्माण के लिए ब्रह्म मुहूर्तम् अभियान चलाया जाएगा, क्योंकि अद्वैत दर्शन ही जीवन जीने का वास्तविक तरीका है। आम आदमी को वास्तविक मानव बनाने […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

सुप्रीम कोर्ट ने माना वाल्मीकि रामायण और स्कंद पुराण पर आधारित है राम जन्मस्थान

नयी दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अयोध्या मामले में फैसला सुनाते हुए शनिवार को कहा कि हिन्दुओं का यह विश्वास की अयोध्या ही भगवान राम की जन्मभूमि है, वह वाल्मीकि रामायण और स्कंद पुराण […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

बैकुंठ चतुर्दशी

11 नवम्बर 2019, दिन सोमवार कार्तिक मास की शुक्लपक्ष की चतुर्दशी को यह व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की विधिवत् पूजा करके भोग लगाएँ। तत्पश्चात् पुष्प, धूप, दीप, चन्दन आदि पदार्थों से […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

नवनीता की कविता

अंधेरे में हो रही थी बारिश ……………………………………………. परछाई नाच रही थी गाड़ी के काँच पर अचानक नदी की हवा ने छू लिया था अजानी बिजली काँप उठी थी मन में बहुत-बहुत दूर था घर डामर […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

जिंदा लोगों का ‘अंतिम संस्कार’, इस तरह ‘मौत को महसूस’ कर रहे लोग

सियोल। दुनिया भर में वैसे तो मरने के बाद लोगों को दफन करने या दाह-संस्कार की प्रथा है। लेकिन, दक्षिण कोरिया में जिंदा लोगों को ही कब्र में लिटाने की प्रथा परवान चढ़ रही है। […]

कला,साहित्य एवं संस्कृति

छठ, प्रकृति और सूर्योपासना

छठ पूजा का सबसे महत्वपूर्ण पक्ष इसकी सादगी पवित्रता और लोकपक्ष है। भक्ति और आध्यात्म से परिपूर्ण इस पर्व के लिए न विशाल पंडालों और भव्य मंदिरों की जरूरत होती है न ऐश्वर्य युक्त मूर्तियों […]